Bol Baba Bol
टॉप न्यूज़ ब्रेकिंग न्यूज़ लाइफस्टाइल हेल्थ

नई और सटीक तकनीक ने आसान बनाया इलाज एक हफ्ते में होगा 5 तरह के कैंसर का इलाज, नहीं कोई साइड इफेक्ट

नई और सटीक तकनीक ने आसान बनाया इलाज
कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने वाली शक्तिशाली रेडियोथेरेपी कराने वाले लोगों को पहले काफी परेशानी झेलनी पड़ती थी। अक्सर वे अपना काम और पारिवारिक जीवन ताक पर रखकर छह सप्ताह तक अस्पतालों के चक्कर काटते रहते थे। लेकिन अब नई और सटीक तकनीक में प्रगति होने से उनको रेडियोथेरेपी कराने में काफी सुविधा होगी।

एक हालिया अध्ययन में पता चला है कि अब पांच तरह के कैंसर का इलाज केवल एक हफ्ते या उससे भी कम समय में हो सकता है। कई अध्ययनों और परीक्षणों के बाद पता चला है कि रेडियोथेरेपी ट्यूमर को नष्ट करने में काफी प्रभावी हो सकती है। इस उपचार में पांच दिन या उससे भी कम समय लगने की उम्मीद जताई जा रही है। ब्रिटिश डॉक्टरों द्वारा किए गए इस नए अध्ययन के निष्कर्ष अप्रैल में मेडिकल जर्नल द लैंसेट में प्रकाशित हुए थे। ।

यह एक सुरक्षित उपचार, कोई दुष्प्रभाव नहीं
पिछले दो दशकों में ब्रिटेन के डॉक्टरों ने यह दिखाने का प्रयास किया है कि कम सत्रों में रेडियोथेरेपी की ज्यादा खुराक देने से कुछ प्रकार के कैंसरों (स्तन, आंत्र, प्रोस्टेट और फेफड़ों के कैंसर) का प्रभावी इलाज होने में सफलता मिल सकती है। डॉक्टरों के मुताबिक, बार-बार किए परीक्षणों ने यह दिखाया है कि अधिक मात्रा में रेडियोथेरेपी देने से स्वस्थ ऊतक को अधिक नुकसान पहुंचा सकता है जैसी चिंता के बावजूद यह उपचार काफी सुरक्षित है और इसके कोई दुष्प्रभाव नहीं हैं।

रॉयल कॉलेज ऑफ रेडियोलॉजिस्ट के अध्यक्ष और लंग ऑन्कोलॉजिस्ट कंसल्टेंट डॉ. जेनेट डिकसन ने कहा, रोगी सबसे अच्छा इलाज चाहते हैं। लेकिन साथ ही वे यह भी चाहते हैं कि इलाज के चलते उनकी रोजमर्रा की जिंदगी में कोई दिक्कत न हो। ऐसे में वे इलाज में लगने वाले छह हफ्तों के लंबे समय के बजाय एक हफ्ते का कम समय वाला विकल्प पसंद कर रहे हैं।

नए तरीके से इलाज से कम हुई रोगियों की संख्या
नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) क्लीनिक ने महामारी के बीच कैंसर रोगियों के लिए उपचार को और अधिक कुशल बनाने के तरीकों की तलाश की और कई रोगी इन तरीकों को अपना चुके हैं। इसका नतीजा यह है कि रेडियोथेरेपी उपचार के जरिए एनएचएस में स्तन, आंत्र, प्रोस्टेट और फेफड़ों के कैंसर से जूझ रहे रोगियों की बढ़ती संख्या अब कम हो रही है।

Related posts

मोदी कोरोना संकट पर आज फिर करेंगे मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा

Bol Baba Bol

बहन की डोली उठने से 3 दिन पहले निकली भाई की अर्थी, रो पड़ा पूरा गांव….

Admin

पता नहीं सलमान के साथ दुबारा क्यों नजर नहीं आए ये 2 सितारे, एक बार जानना तो बनता है

Bol Baba Bol

टिप्पणी दें

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़